**National FDP on Ensuring Class Participation on 04.04.2019**** ** College with potential of excellence status by UGC*

आर्य कॉलेज में 55 वें दीक्षांत समारोह का हुआ भव्य आयोजन

मानवीय मूल्यों के विकास के लिएरहें प्रयासरत : डॉ.कैलाश चन्द्रशर्मा

415 विद्यार्थियों को उपधि देकर कियास6मानितपानीपत: 21 सितंबर 2018 आर्य पीजी कॉलेेज में कल शुक्रवारको 55 वें दीक्षांत समारोह का भव्यआयोजन किया गया। ५५वें दीक्षांतसमारोह में कुरु क्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र से कुलपति डॉ.कैलाश चन्द्र शर्माने बतौर मु2य अतिथि शिरकत की।कॉलेज प्रबंधन समिति के महासचिवसुरेंद्र शिंगला,कोषाध्यक्ष पीयूषआर्य, वरिष्ठ सदस्य वीरेंद्रशिंगला,नवनीत शिंगला,प्राचार्यडॉ.जगदीश गुप्ता ने कुलपति महोदयडॉ.कैलाश चन्द्र शर्मा का कॉलेजप्रांगण पहुँचने पर स्वागत किया।दीक्षांत समारोह का शुभारंभसरस्वती वंदना एवं दीप प्रज्ज्वलन से हुआ।
मंच संचालन हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ.नीरजठाकुर व प्रो.विजय सिंह ने किया।मु2य अतिथि कुलपति डॉ.कैलाश चन्द्रशर्मा ने अपने संबोधन में आर्य समाजकी स्थापना व इतिहास पर विस्तृतप्रकाश डालते हुए कहा कि आर्य समाजमें हवन परंपरा का विशेष महत्व है।जोकि हमारे लिए गौरव की बात है।उन्होंने विद्यार्थियों को कहा किहमें समाज में प्रश्रों के उतरों कोदेने योग्य व अग्नि के समान तपकर श्रेष्ठबनने का प्रयास करना चाहिए। अग्निमानव जीवन की मार्गदर्शक है। अग्निहमारे जीवन में अंधकार को दूरकरती है। उन्होंने कहा कि हमेंमानवीय मूल्यों के विकास के लिए निरंतरप्रयासरत रहना चाहिए।बेटियों के बारे में उन्होंनेकहा कि बेटियां जहां होती हैंवहां विकास,उन्नती एवं महानता होतीहै। आज बेटियों ने प्रत्येक क्षेत्र मेंअपने देश का नाम पूरे विश्व मेंरोशन किया है। उन्होंने कहाकि हमें अपने भीतर की क्षमताओं कोपहचान कर उनका विकास करनाचाहिए।
उन्होंने अपने संबोधन में यह भी कहा कि आर्य कॉलेज के एक वर्षमें २५१ विद्यार्थियों का मेरिट सूची मेंस्थान बनाना अपने आप में एक बहुत बड़ी उपल4िध है। और आर्य कॉलेज नेसांस्कृतिक कार्यक्रमों में कई बारभारत देश का प्रतिनिधित्व किया है यहकुरु क्षेत्र विश्वविद्यालय, के लिए गर्व की बातहै।महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जगदीशगुप्ता ने महाविद्यालय की वार्षिकरिपोर्ट प्रस्तुत की उन्होंने बतायाकि इस वर्ष शैक्षणिक स्तर मेंमहाविद्यालय के २५१ विद्यार्थी विश्वविद्यालय कीमेरिट सूची में आए चुके हैं औरआठ विद्यार्थियों को कुरु क्षेत्रविश्वविद्यालय द्वारा गोल्ड मेडल देकरस6मानित किया गया है।उन्होंने बताया कि सांस्कृतिक व खेलकूदके क्षेत्र में महाविद्यालय कीउपल4िधयों से अवगत करवाया।उन्होंने कहा कि महाविद्यालय केविद्यार्थी सांस्कृतिक व खेलकूद समेत तमामक्षेत्रों में शानदार उपल4िधहासिल कर नित नए कीर्तिमान स्थापित कररहे हैं। डॉ. जगदीश गुप्ता ने कहाकि सांस्कृतिक गतिविधियों में महाविद्यालय का प्रदर्शन हमेशाशानदार रहता है। महाविद्यालय कीहरियाणवी ऑर्केस्ट्रा,हरियाणवी समूह नृत्य व प्रकशन कीटीम ने इस वर्ष रांची में आयोजितराष्ट्रीय यूथ फेस्टिवल में प्रथम स्थानहासिल किया। उन्होंने यह भी बतायाकि आर्य पीजी कॉलेज की टीम नेकुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हुए उ8ार क्षेत्रीययुवा महोत्सव में भी ओवरऑलट्राफी जीतकर कॉलेज का नामरोशन किया। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय,कुरुक्षेत्र के इंटर जोनल युवासमारोह में भी महाविद्यालय केहोनहारों ने उत्कृष्ट प्रदर्शनकरते हुए ओवरआल ट्रॉफी हासिलकी। प्राचार्य ने बताया कि समारोहमें ४१५ विद्यार्थियों को उपाधी देकरस6मानित किया गया।उल्लेखनीय है कि आर्य महाविद्यालयपिछले ३ वर्षो से लगातार प्रदेशस्तरीय रत्नावली महोत्सव में भीओवरआल ट्रॉफी हासिल कर रहाहै व लगातार ९ वर्षों से क्षेत्रीय युवामहोत्सव में ओवरऑल ट्रॉफी विजेता रहा है। खेल के मैदान में भीमहाविद्यालय के होनहारखिलाडिय़ों ने खूब जौहर दिखाए औरइस वर्ष महाविद्यालय के २५० से भी अधिकखिलाडिय़ों ने राष्ट्रीय वअंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजितविभिन्न प्रतियोगिताओं में जीत हासिलकी। प्राचार्य डॉ.जगदीश गुप्ता नेदीक्षांत समारोह में पहुंचे मु2य अतिथि ,सभी अतिथिगणों व शहर के गणमान्यव्य1ितयों का आभार प्रकट किया।इस अवसर पर कॉलेज कीउपाचार्या डॉ.संतोषटि1कू,प्रो.सतबीरसिंह,डॉ.रामनिवास,डॉ.विजयसिंह,डॉ.अनुराधा सिंह,डॉ.मीनलबतरा, डॉ. बलकार, डॉ.गीतांजलीधवन, डॉ. हरविंद्र सहित अन्य मौजूदरहे।